What is token burning? टोकन बर्निंग क्या है?

What is token burning? टोकन बर्निंग क्या है? क्रिप्टो कॉइन बर्निंग क्या है?

नमस्कार दोस्तों

 आज हम क्रिप्टोकरंसी के एक और अध्याय के बारे में  जानेंगे और यह अध्याय है “टोकन बर्निंग”, आखिर टोकन बर्निंग क्या होता है? टोकन बर्निंग क्यों किया जाता है? टोकन बर्निंग के क्या फायदे होते हैं? टोकन बर्निंग के क्या नुकसान होते हैं? आज हम इसके बारे में पूरा विस्तार से जानेंगे और समझने की कोशिश करेंगे आखिर इसका असली मतलब होता क्या है

 वैसे आम भाषा में बर्निंग का मतलब जलाना होता है लेकिन हम क्रिप्टोकरंसीयों को अगर छू नहीं सकते हैं (क्योंकि क्रिप्टोकरंसीया (Virtual) आभासी होती है) तो जला कैसे सकते हैं लेकिन हम क्रिप्टोकरंसी को जला नहीं सकते हैं तो फिर बर्निंग क्यों बोला जाता है? 

What is token burning? टोकन बर्निंग क्या है? क्रिप्टो कॉइन बर्निंग क्या है?

टोकन बर्निंग एक प्रोसेस होता है जिसके अनुसार अपनी स्वेच्छा से क्रिप्टोकरंसी को सर्कुलेटिंग सप्लाई से हमेशा के लिए हटा दिया जाता है यह कार्य किसी भी टोकन की डेवलपमेंट टीम के द्वारा किया जाता है जो टोकन को वापिस खरीद सकते हैं और उन्हें बर्निंग कर सकते हैं बहुत सी कंपनियां टोकन को एक उत्सव की तरह बर्निंग का कार्य करती हैं 

उदाहरण के तौर पर,

 बहुत सी कंपनियां फंडरेज करने के लिए टोकन उतारती है मार्केट में जब उनका फंड कंप्लीट हो जाता है बाकी बचे हुए टोकन को बर्न  कर देती है What is token burning? टोकन बर्निंग क्या है?

टोकन बर्निंग कैसे काम करता है ?How does token burning work? 

क्रिप्टो टोकन को एक बंद एड्रेस(Frozen Address)  पर भेज दिया जाता है उस एड्रेस को बर्न एड्रेस बोला जाता है एड्रेस की जानकारी किसी को नहीं होती ना ही उसमें से टोकन को वापस लिया जा सकता है और ना ही किसी को भेजा जा सकता है 

 उदाहरण के तौर पर,

BNB टोकन को  हर 3 महीने के अंदर बर्न किया जाता है उनका टोटल बर्निंग का टारगेट 100M BNB है  

किस प्रकार के टोकन को बर्न किया जा सकता है?

केवल सेंट्रलाइज्ड क्रिप्टोकरेंसीयों की Burning की जाती है क्योंकि वह क्रिप्टोकरंसी पहले से ही Mining की  हुइ होती है  जैसे कि :- Ripple coin और BNB coin आदि  

सिक्का जलाने के कारण और उपयोग के मामले Reasons and use cases for burning a coin

क्रिप्टोकरंसी विभिन्न उद्देश्यों के लिए बर्न किया जाता है जिन को विस्तार

टोकन कीमत को बढ़ाने के लिए

क्रिप्टो कॉइन की कीमत को बढ़ाने के लिए बर्न किया जाता है बर्न करने से कॉइन की सप्लाई कम हो जाती है लेकिन डिमांड वही रहती है जिससे उसके मूल्य में बढ़ोतरी होती है

Stable टोकन  की स्थिरता को बनाए रखने के लिए

कुछ टोकन है जिनको उसको स्थिर रखना होता है उनकी कीमत जब भी कम या ज्यादा होती है उन टोकन की कीमत को स्थिर रखने के लिए  क्रिप्टो टोकन को बर्न किया जाता है जैसे कि USDT  टोकन को डॉलर के बराबर प्राइस  रखना होता है

टोकन की correction के लिए

किसी भी प्रोजेक्ट में कोई गलती हो जाने पर उस गलती को सही करने के लिए भी टोकन को बर्न  किया जाता है उदाहरण के लिए Tether मैं अचानक से 5Billion USDT आ जाते हैं जिससे उसकी सप्लाई बढ़ जाती है टोकन कि सप्लाई में अस्थिरता से बचने के लिए टोकन को बर्न करना पड़ता है

टोकन धारकों को प्रोत्साहित करने के लिए

बहुत सारे Exchanges टोकन होल्डर को प्रोत्साहित करने के लिए टोकन की कीमत बढ़ाते हैं कीमत को बढ़ाने के लिए बहुत सारे Exchanges जैसे:-Binance,Ku Coin,Huboi और OKEX समय-समय पर टोकन की बर्निंग करते हैं

प्रभावी Consensus system बनाने के लिए

प्रूफ-ऑफ-बर्न तंत्र ब्लॉकचैन नेटवर्क द्वारा कार्यान्वित एक सर्वसम्मति एल्गोरिदम है जिसका उपयोग ब्लॉकचैन पर लेनदेन को मान्य(Validating) करने के लिए किया जाता है

टोकन बर्निंग का सबसे प्रसिद्ध लाभ एक सिक्के के मूल्य में वृद्धि है यहां तक ​​​​कि सामुदायिक दृष्टिकोण से केवल अल्पावधि में ही टोकन बर्न को एक एयरड्रॉप के रूप में भी देखा जा सकता है क्योंकि परिणामस्वरूप टोकन का मूल्य बढ़ सकता है

Leave a Comment

Your email address will not be published.

सेफमून(Safemoon)कॉइन के बारे में महत्वपूर्ण जानकारियां?